राजस्थान की सभी कॉलेजों में नहीं होंगे छात्र संघ चुनाव, सरकार ने लिया बड़ा फैसला – Rajasthan Student Union Election

Join telegram Chennel Join Now
Join WhatsApp Group Join Now

Rajasthan Student Union Election :- हर साल छात्र संघ चुनाव कई लोगों की लाइफस्टाइल को प्रभावित करते हैं क्योंकि इसमें छात्र अपने प्रतिनिधियों का चुनाव करके लोकतांत्रिक प्रक्रिया में भाग लेते हैं। अभी राजस्थान के सभी जिलों में Rajasthan Student Union Election नहीं होंगे। इस निर्णय ने हजारों महत्वाकांक्षी छात्र नेताओं को निराश कर दिया है और लोग इसके कारणों के बारे में जानने हेतु उत्सुक हैं।

Rajasthan student union election Cancelled
Rajasthan student union election Cancelled

Rajasthan Student Union Election Cancel – राज्य सरकार के फैसले से छात्र निराश

छात्र संघ चुनाव न करने के निर्णय की घोषणा राज्य सरकार द्वारा शनिवार की रात विशेष रूप से 12 अगस्त को जारी एक आदेश के माध्यम से की गई थी। यह घोषणा कई छात्र नेताओं के लिए एक झटका है जो पिछले वर्ष से सक्रिय रूप से चुनाव की तैयारी कर रहे थे।

इस अप्रत्याशित कदम के पीछे का कारण राज्य सरकार के उच्च शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक है। 12 अगस्त को आयोजित यह बैठक राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की प्रगति और कार्यान्वयन पर चर्चा पर केंद्रित थी।

उच्च शिक्षा बैठक में शामिल थे ये लोग

इस महत्वपूर्ण बैठक के दौरान विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों सहित शैक्षणिक क्षेत्र के विभिन्न प्रतिनिधि उपस्थित थे। हैरानी की बात यह है कि छात्र संघ चुनाव के मुद्दे को कुलपतियों का समर्थन नहीं मिला। परिणामस्वरूप राज्य सरकार ने सभी हितधारकों के दृष्टिकोण पर विचार करते हुए आगामी शैक्षणिक सत्र के लिए छात्र संघ चुनाव नहीं कराने का निर्णय लिया।

विद्यार्थियों की उम्मीदों पर फिरा पानी

छात्रसंघ चुनाव पूरे राजस्थान में छात्रों के लिए एक विशेष स्थान रखते हैं। छात्र अपनी तैयारी जल्दी शुरू कर देते हैं और अपने अभियानों में समय, प्रयास और कभी-कभी बड़ी मात्रा में धन भी निवेश करते हैं। हालांकि Rajasthan Student Union Election 2023 Cancel करने के इस फैसले ने इन छात्र नेताओं की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है।

राजस्थान में 15 विश्वविद्यालय, 50 से अधिक सरकारी स्वामित्व वाले और 300 से अधिक निजी कॉलेज हैं। आमतौर पर इनमें से अधिकांश संस्थानों में चुनाव होते रहते हैं जिससे इस वर्ष चुनाव न होना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है।

पैसे और पावर पर होता था चुनाव

Rajasthan Student Union Election अक्सर धनबल और बाहुबल से जुड़े विवादों से घिरे रहते हैं। हालांकि निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए लिंगदोह समिति द्वारा उल्लिखित शर्तों को लागू करने का प्रयास किया गया है लेकिन धन और शक्ति का प्रभाव कायम रहा है।

नियमित चुनावों के दौरान एक उम्मीदवार के खर्च लगभग 5,000 रुपये होने चाहिए और छात्र संघ चुनावों के दौरान खर्च करोड़ों रुपये तक पहुंच जाता है। अक्सर इन चुनावों के दौरान असाधारण रैलियां और प्रभाव का प्रदर्शन देखा जाता है जिससे लोकतांत्रिक प्रक्रिया के बारे में चिंता पैदा होती हैं।

क्यों करना पड़ा चुनाव को रद्द

Rajasthan Student Union Election Cancel करने के सरकार के फैसले का मुख्य कारण उपरोक्त बैठक के नतीजे में है। बैठक का उद्देश्य प्रवेश, बजट प्रगति, छात्रसंघ चुनाव और लिंगदोह समिति की सिफारिशों के अनुसार परीक्षा परिणाम जारी करने सहित कई पहलुओं पर चर्चा करना था।

दुर्भाग्य से चर्चा के दौरान कुलपतियों ने छात्र संघ चुनावों के लिए समर्थन व्यक्त नहीं किया। नतीजतन राज्य सरकार ने चुनाव के लिए कोई आदेश जारी नहीं करने का विकल्प चुना जिससे चालू शैक्षणिक वर्ष के लिए चुनाव की स्थिति पक्की हो गई।

प्रभावित होंगे ये सरकारी विश्वविद्यालय

छात्र संघ चुनाव न कराने के फैसले का असर राजस्थान के कई सरकारी विश्वविद्यालयों पर पड़ेगा। इस निर्णय से प्रभावित कुछ प्रमुख विश्वविद्यालय निम्नलिखित हैं।

  1. राजस्थान विश्वविद्यालय, जयपुर
  2. जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय, जोधपुर
  3. मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय, उदयपुर
  4. वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय, कोटा
  5. महर्षि दयानन्द सरस्वती विश्वविद्यालय अजमेर
  6. कोटा विश्वविद्यालय, कोटा
  7. पंडित दीनदयाल उपाध्याय शेखावाटी विश्वविद्यालय, सीकर
  8. महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय, बीकानेर
  9. राजऋषि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय, अलवर
  10. हरिदेव जोशी पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय, जयपुर
  11. महाराजा सूरजमल बृज विश्वविद्यालय भरतपुर
  12. डॉ. भीमराव अम्बेडकर विधि विश्वविद्यालय, जयपुर
  13. एम.बी.एम. विश्वविद्यालय, जोधपुर
  14. गोविन्द गुरु जनजातीय विश्वविद्यालय, बांसवाड़ा
  15. कुलसचिव, राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, जोधपुर
Join WhatsApp Group Join Now
Join telegram Chennel Join Now

Leave a Comment